• Sat. Dec 2nd, 2023

अवैध रूप से वृक्षों की कटाई और बिक्री का मामला, सीपत वृत्त में वन विभाग ने की कार्रवाई….

Ashutosh Gupta

ByAshutosh Gupta

Mar 21, 2023

आशुतोष गुप्ता

सीपत – वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी कुमार निशांत, वन मंडल अधिकारी बिलासपुर एवं सुनील बच्चन, उप वन मंडल अधिकारी बिलासपुर को मुखबिर से सुचना मिली कि वन परिक्षेत्र बिलासपुर के सीपत परिवृत्त अंतर्गत- ग्राम मुड़पार (तें.) में कुछ वृक्षों की अवैध कटाई की गई है। अधिकारियों द्वारा संबंधित परिक्षेत्र सहायक सीपत-अजय बेन को कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया। जिसके परिपालन में वन परिक्षेत्र अधिकारी बिलासपुर पल्लव नायक से मार्गदर्शन प्राप्त कर परिक्षेत्र सहायक सीपत, अपने अधीनस्थ वन कर्मचारीयों,केशव गिरी गोस्वामी (परिसर रक्षक ठरकपुर), लोरिक राम कुर्रे एवं रामदयाल के साथ  मौके पर पहुंचकर, जांच कर कार्यवाही की गई। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम मुड़पार (तें.) में कुटी आश्रम स्थित है,जो बाबा स्वर्गीय राघव नंदी महाराज जी के मालिकाना हक में है।

वहां पर विभिन्न प्रजाति क्रमशः अर्जुन ,जामुन, सेमल, पलाश, बबूल, सागौन इत्यादि के लगभग 70 नग वृक्ष स्थापित हैं, जिसको अवैध रूप से ग्राम मुड़पार (तें.) के कोटवार मानिकदास पिता स्वर्गीय दुखी दास (उम्र 60 वर्ष) द्वारा ग्राम एरमसाही निवासी अशोक कुमार टंडन पिता स्वर्गीय राम जी (उम्र 44 वर्ष) के पास ₹30,000/- में बेच दिया गया है। उक्त राशि में से ₹10,000/- अग्रिम प्राप्त कर वृक्षों को काटने की मौखिक अनुमति ग्राम कोटवार मानिकदास  द्वारा दी गई है। क्रेता अशोक कुमार टंडन द्वारा मौके पर पांच वृक्षों को काट दिया गया है।

सेमल प्रजाति के 2 नग वृक्ष के लट्ठे मौके पर पड़े हुए हैं, एक नग सागौन वृक्ष के लठ्ठों को क्रेता द्वारा अपने घर परिवहन करा लिया गया है साथ ही 2 नग बबूल के लठ्ठों को मुड़पार के ही लखन केश्कर नाम का आदमी कोटवार के कहने पर ही ले गया है। परिक्षेत्र सहायक सीपत द्वारा बयान दर्ज करने पर, ग्रामीण जनों एवं गवाहों के समक्ष विक्रेता कोटवार मानिकदास एवं क्रेता अशोक कुमार टंडन ने अपना अपराध स्वीकार किया।

संपूर्ण कार्यवाही में ग्राम मुड़पार (तें.) के नागरिक आशीष बाकरे, रिंकू जायसवाल संतोष यादव, उपसरपंच यादव एवं अन्य गणमान्य नागरिकों ने वन विभाग का सहयोग किया। उक्त प्रकरण में भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 52, छत्तीसगढ़ परिवहन (वन उपज) नियम 2001, छत्तीसगढ़ वन उपज (व्यापार विनियमन) अधिनियम 1969 एवं वृक्ष कटाई के नियम 2022 की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत कार्यवाही की गई।

error: Content is protected !!
Latest
कलेक्टर ने जिले में घोषित किये साईलेंस जोन ,जारी हुआ आदेश.... शासकीय मदन लाल शुक्ल स्नातकोत्तर महाविद्यालय सीपत द्वारा संविधान दिवस एवं छत्तीसगढ़ी राजभाषा दिवस सम... मजदूरी कर लौट रहे पति पत्नी आये हाइवा की चपेट में...पत्नी की  हुई मौत रसोई गैस की कालाबाजारी... खाद्य विभाग ने की छापेमारी, पकड़े गए 94 सिलेंडर कलेक्टर ने ली समय-सीमा की बैठक, मतगणना की तैयारियों की समीक्षा गुप्ता समाज सीपत द्वारा महर्षि कश्यप जयंती जमीन का बंटवारा नही देने पर सौतेले भाई का अपहरण कर हत्या.... 5 महिलाओं के साथ 1 पुरुष आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार...... नक्सलियों ने मचाया उत्पात, कई गाड़ियों को किया आग के हवाले..... दो अधिकारियों को कलेक्टर ने किया निलंबित,ये रहा कारण.....