• Fri. May 17th, 2024

*एनटीपीसी सीपत: 22 वर्षों की गौरवशाली यात्रा*

Ashutosh Gupta

ByAshutosh Gupta

Jan 27, 2024

आशुतोष गुप्ता रिपोर्टर

 

सीपत — एनटीपीसी सीपत, एनटीपीसी का पहला सुपर क्रिटिकल तकनीक पर आधारित विद्युत स्टेशन है। एनटीपीसी सीपत खनिज सम्पदा से समृद्ध छत्तीसगढ़ राज्य का एक अमूल्य रत्न है। एनटीपीसी सीपत की कुल स्थापित क्षमता 2980 मेगावाट है। जिसमें प्रथम चरण में 660 मेगावाट की सुपर क्रिटिकल तकनीक पर आधारित तीन इकाइयां और द्वितीय चरण में 500 मेगावाट की सब क्रिटिकल 2 इकाइयां शामिल हैं।

इसका शिलान्यास 28 जनवरी 2002 को माननीय पूर्व प्रधान मंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी जी के करकमलों से सम्पन्न हुआ था। माननीय पूर्व प्रधान मंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने 19 सितंबर 2013 को एनटीपीसी सीपत स्टेशन को राष्ट्र को समर्पित किया। अपनी 22 वर्षों की सेवा में यह संयंत्र तकनीकी कौशल और ऊर्जा उत्पादन के प्रतीक के रूप में खड़ा है, जो छत्तीसगढ़ सहित देश के सात राज्यों को बिजली की आपूर्ति करता है। स्टेशन के विस्तार हेतु स्टेज-3, 800 मेगावाट अल्ट्रा सुपर क्रिटिकल यूनिट का निर्माण प्रस्तावित है।

अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन को जारी रखते हुए, एनटीपीसी सीपत ने दिसंबर 2023 में 95.70% का पीएलएफ दर्ज किया और एनटीपीसी के समस्त स्टेशनों में प्रथम स्थान अर्जित किया। हाल ही में सीपत सुपर थर्मल पावर स्टेशन को कई सम्मान एवं उपलब्धियाँ प्राप्त हुई हैं। वर्ष 2022-2023 में, एनटीपीसी सीपत को सीआईआई आईटीसी सस्टेनेबिलिटी कॉर्पोरेट उत्कृष्टता पुरस्कार, वर्ष 2022 में ऊर्जा प्रबंधन में उत्कृष्टता के लिए सीआईआई राष्ट्रीय पुरस्कार-2023 और आरएलआई सीपत को इकोनॉमिक टाइम्स फ्यूचर स्किल्स अवार्ड 2023 से सम्मानित किया गया।

विद्युत उत्पादन के साथ साथ, एनटीपीसी सीपत परियोजना प्रभावित गांवों में सामुदायिक विकास हेतु समर्पित है। बालिका सशक्तिकरण अभियान, चालित मोबाइल मेडिकल वैन के माध्यम से स्वास्थ्य शिविर, नवाचारी शिक्षा के लिए स्मार्ट क्लास और स्टेम लैब जैसी शैक्षिक पहल, एकीकृत पशुधन विकास मिशन, खेल टूर्नामेंट और रोजगारोन्मुखी कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यशालाओं इत्यादि कई पहलों के माध्यम से एनटीपीसी सीपत ने आस पास के लोगों के जीवन शैली के सुधार में अपना योगदान दे रहा है ।

देश के विकास में योगदान के साथ साथ, एनटीपीसी सीपत उत्कृष्टता, नवाचार और सतत विकास के प्रति अपनी प्रतिबद्धता पर दृढ़ है। तकनीकी कौशलों की परिपूर्णता और पर्यावरण संरक्षण के विभिन्न उपायों के माध्यम से, एनटीपीसी सीपत ने देश की ऊर्जा आत्मनिर्भरता और पर्यावरण संरक्षण प्रबंधन में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। एनटीपीसी सीपत छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित करता देश का एक महत्वपूर्ण एवं प्रगतिशील विद्युत संयंत्र है।

error: Content is protected !!
Latest
सेजेस सीपत में 18 मई को होगी प्रवेश प्रक्रिया पूरी ऑनलाइन व ऑफलाइन मिला है आवेदन, अधिक आवेदन हो... आरोपी द्वारा जमीन बटवारा रंजिश को लेकर पिता का किया हत्या । *हत्या के 48 घंटों के भीतर सीपत पुलिस ... *धारदार हथियार से किसान की गला रेतकर हत्या... सीपत क्षेत्र में फैली सनसनी*  सीपत पुलिस जांच में जुटी बिग ब्रेकिंग : कल से सभी स्कूल बंद, भीषण गर्मी को देखते स्कूल शिक्षा विभाग का फैसला, देखिए आदेश.… बड़ी खबर : 18 नक्सली ढेर, BSF इंस्पेक्टर, DRG के 2 भी जवान.. घायल.. मस्तूरी क्षेत्र में किसान की जमीन पर मिशन जता रहा अपना अधिकार...दीवार खड़ी कर कब्जा करने की कोशिश, क... श्री देवी भागवत महापुराण जीवन को मुक्ति की मार्ग प्रदान करती है,,,आलोक मिश्रा शिक्षको ने रैली के माध्यम से दिया मतदाता जागरूकता का संदेश मतदान देश के उज्ज्वल भविष्य की प्रतिबिंब...  *बिलासपुर लोकसभा कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र यादव के पक्ष में कन्हैया कुमार ने मस्तूरी विधानसभा क्ष... श्रीमद् भागवत कथा मनुष्य की सभी इच्छाओं को पूरा करती है... आचार्य तिवारी